बीती रात यंग बॉयज के खिलाफ खेले गए चैंपियंस लीग गेम में मार्कस रैशफोर्ड द्वारा चांस मिस करने पर मैनचेस्टर यूनाइटेड मैनेजर होजे़ मोरीनियो ने काफी ड्रामैटिक तरह से रिएक्ट किया था। इसपर मोरीनियो की काफी आलोचना हुई थी जिसपर उन्होंने अपने आलोचकों को जवाब दिया है।


गौरतलब है कि रैशफोर्ड ने ओल्ड ट्रैफर्ड में खेले गए इस गेम में स्कोर करने का एक सुनहरा मौका गंवा दिया था। हालांकि स्टॉपेज टाइम में मिडफील्डर मारूआन फलइनि ने स्कोर कर रेड डेविल्स को जीत दिला दी थी। इस जीत के साथ ही मैनचेस्टर यूनाइटेड यूरोपियन टूर्नामेंट के लास्ट-16 में जा पहुंचा है।


लेकिन इस मैच में मोरीनियो के एक्शन ने उन्हें मुसीबत में डाला। मोरीनियो ने रैशफोर्ड द्वारा एक मौका मिस करने पर क्राउड की तरफ देखकर ऐसा रिएक्ट किया मानों उन्हें पहले से पता हो कि रैशफोर्ड ऐसा करेंगे। रैशफोर्ड की आलोचना से इंकार करने वाले मोरीनियो ने अपनी हरकतों को डिफेंड किया है।

वह इस बात पर अटल हैं कि उनका अपनी फ्रस्ट्रेशन दिखाना पूरी तरह से नैचुरल था। मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा, 'हमने बहुत ज्यादा स्कोर नहीं किया पर यह रैशफोर्ड के बारे में नहीं है, यह टीम के बारे में है। हमारे लिए गोल स्कोर करना मुश्किल था पर मार्कस ने कड़ी मेहनत की।


मैं कभी भी एक प्लेयर को दोष नहीं दे सकता क्योंकि उसने चांस मिस किया है। क्या मैं या फिर दूसरे मैनेजर्स फ्रस्ट्रेशन का रिएक्शन भी नहीं दे सकते? मैं उन लोगों को इनवाइट करूंगा कि वे मैनेजर की बेंच पर बैठें पर मुझे लगता है कि हो सकता है कि बारबाडोस में छुट्टियां बिताने और टीवी स्टूडियो में बैठकर इलेक्ट्रॉनिक चीजों को हाथ लगाना टचलाइन पर खड़े होने से ज्यादा कंफर्टेबल है।


मैं इस बात को लेकर श्योर हूं कि एक प्रॉपर फुटबॉल मैनेजर टचलाइन पर किए गए इमोशनल रिएक्शन की कभी आलोचना नहीं करेगा क्योंकि ये उनके लिए डेजा वू है। वे लोग जिनकी लाइफ शानदार है उनके लिए चीजें अलग हैं।'