बीती रात ओल्ड ट्रैफर्ड में यंग बॉयज के खिलाफ मैनचेस्टर यूनाइटेड की चैंपियंस लीग जीत के बाद मैनचेस्टर यूनाइटेड लेजेंड पॉल स्कोल्स ने रेड डेविल्स की परफॉर्मेंस को घटिया और भयावह बताया है।


गौरतलब है कि स्टॉपेज टाइम में मिडफील्डर मारुान फलइनि ने स्कोर कर यूनाइटेड को विजिटिंग टीम पर ​1-0 की जीत दिलाई थी। इस जीत के साथ ही रेड डेविल्स चैंपियंस लीग के लास्ट-16 में जा पहुंचे हैं। बता दें कि शनिवार को क्रिस्टल पैलेस के खिलाफ स्कोरलेस ड्रॉ खेलने के बाद मैनचेस्टर यूनाइटेड बॉस होज़े मोरीनियो ने अपने प्लेयर्स से गेम में ज्यादा कंसिस्टेंसी दिखाने की बात कही थी।


लेकिन उनकी काफी बदली हुई टीम ने भी बीती रात गेम की शुरुआत में मिले शुरुआती मौकों को मिस किया। मार्कस रैशफोर्ड ने गोल करने के कई आसान चांस मिस किए। वहीं दूसरी ओर क्लब के स्टॉपर डेविड डे हेया ने मैच के दूसरे हाफ में एक बेहद शानदार सेव कर अपोनेंट को लीड लेने से रोका था।

फोर फोर टू के मुताबिक स्कोल्स ने यूनाइटेड की इस परफॉर्मेंस की तुलना बीते सीजन ओल्ड ट्रैफर्ड में सेविया के खिलाफ खेले गए गेम से की है। बता दें कि लास्ट-16 के इस गेम में यूनाइटेड को 2-1 से हार का मुंह देखना पड़ा था, इसके साथ ही वह ​चैंपियंस लीग से बाहर हो गए थे।


स्कोल्स का मानना है कि यूनाइटेड किस्मत वाला था जो इस मैच में जीत दर्ज़ करने में सफल रहा। BTस्पोर्ट से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि मैनचेस्टर यूनाइटेड दयनीय था। मेरे हिसाब से वे लोग भयावह थे खासकर मैच के सेकेंड हाफ में। मुझे लगता है कि अगर रेड डेविल्स एक हाफ किसी डीसेंट टीम के खिलाफ खेलते तो उन्हें हार का मुंह देखना पड़ता।


यह मुझे पिछले सीजन सेविया के खिलाफ खेले गए गेम की याद दिलाता है। वे पिच के हर एरिया में क्वॉलिटी मिस कर रहे थे। मैं वाकई यंग बॉयज के लिए बुरा महसूस कर रहा हूं। मेरे हिसाब से सेकेंड हाफ में वे लोग बेस्ट थे। अगर उनमें थोड़ी और क्वॉलिटी होती तो वे लोग इस गेम को जीत सकते थे।'