चेल्सी लेजेंड दिदिएर द्रोग्बा ने अपने करियर पर बात करते हुए अपने पूर्व चेल्सी टीममेट फ्रैंक लैम्पार्ड की जमकर सराहना की है। द्रोग्बा के मुताबिक उनके करियर पर लैम्पार्ड ने सबसे ज्यादा प्रभाव डाला है।


द्रोग्बा ने ​स्टैमफोर्ड ब्रिज में लैम्पार्ड के साथ आठ साल तक खेला है और इस दौरान उन्होंने 2012 में चैंपियंस लीग भी जीती थी। द्रोग्बा और लैम्पार्ड ने प्रीमियर लीग में 36 बार एक-दूसरे की गोल करने में मदद की थी जो कि इंग्लिश टॉप फ्लाइट में दो प्लेयर्स के बीच गोल्स और असिस्ट का रिकॉर्ड है।


जापान की राजधानी टोक्यो में एक प्रमोशनल इवेंट में बोलते हुए द्रोग्बा ने अपने पूर्व टीममेट की जमकर तारीफ की।पूर्व आइवरी कोस्ट इंटरनेशनल ने कहा, 'एक प्लेयर है जिसे मैं बाकी सबसे ऊपर रखना चाहूंगा क्योंकि मेरे ज्यादातर गोल्स उसी की मदद से आए, वह फ्रैंक लैम्पार्ड है।

और इसके लिए भी मैं लैम्पार्ड का जिक्र करूंगा क्योंकि हर दिन ट्रेनिंग के बाद हम पिच पर रुककर प्रैक्टिस करते और नई एक्सरसाइज बनाने की कोशिश करते क्योंकि कुछ दिन पहले जो हमने शुरू की होती थी वह सारी एक्सरसाइज काफी आसान हो चुकी होती थीं।


तो, हम नई एक्सरसाइज लाने की कोशिश करते और इसी तरीके से हम आगे बढ़े और एक-दूसरे को गोल्स करने, असिस्ट करने के लिए चैलेंज किया और मेरे लिए तो मैंने उनसे काफी कुछ सीखा।'