ला लीगा प्रेसिडेंट हाविएर तेबास ने एंटी डोपिंग कंट्रोल नियमों को तोड़ने की रिपोर्ट को लेकर रियल मैड्रिड कैप्टन सर्जियो रामोस को डिफेंड किया है। जर्मन पब्लिकेशन डेर स्पीगल ने फुटबॉल लीक्स की इंवेस्टिगेशन को लेकर कई सारे दावे किए हैं जो कहते हैं कि स्पेन इंटरनेशनल रामोस ने दो बार एंटी डोपिंग प्रोटोकॉल को तोड़ा है।


डेर स्पीगल की रिपोर्ट के मुताबिक पहली बार रामोस ने बीते साल युवेंटस के खिलाफ खेले गए चैंपियंस लीग के फाइनल गेम के दौरान एंटी डोपिंग नियमों को तोड़ा था। इस दौरान उनके यूरिन सैंपल में डेक्सामीथासोन पाया गया था जो एक बैन पदार्थ है।


गौरतलब है कि खबर के सामने आने के तुरंत बाद ही रियल मैड्रिड ने इन दावों के खिलाफ अपना स्टेटमेंट जारी किया है। इसके अलावा रामोस ने खुद भी शनिवार को एक स्टेटमेंट जारी किया है जिसमें उन्होंने किसी भी गलत काम से इंकार किया है।

फोर फोर टू के मुताबिक ला लीगा प्रेसिडेंट तेबास को रामोस के साथ-साथ रियल मैड्रिड पर भी भरोसा है। उन्होंने कहा, 'इस मुद्दे पर कई सालों से मैं ​रियल मैड्रिड प्रेसिडेंट फ्लोरेंटिनो पेरेज़ की राय को अच्छे से जानता हूं। वह इस विचार से बहुत जुनूनी है कि खेल में डोपिंग नहीं होनी चाहिए, फुटबॉल में भी नहीं।'


'मुझे कोई शक नहीं है कि यहां पर चीज़ें साफ हैं। मुझे इस मुद्दे को देखना होगा क्योंकि मुझे यह खबर पिछली रात को मिली है और मुझे कुछ नहीं पता। जब यह सारी चीज़ें होती हैं, तो स्पोर्ट में यह हेल्थ प्रोटेक्शन के लिए बनी स्पैनिश एजेंसी पर निर्भर करता है। अगर वे लोग कोई केस नहीं खोलते तब हमें इस बारे में कोई जानकारी नहीं होती।'