रियल मैड्रिड ने उन रिपोर्ट्स से  इनकार किया है कि क्लब के कैप्टन सर्जियो रामोस 2017 में खेले गए चैंपियंस लीग फाइनल के पहले डोप टेस्ट में फेल हुए थे। गौरतलब है कि जर्मन पब्लिकेशन डे स्पीगल ने शुक्रवार को फुटबॉल लीक्स द्वारा जारी की गई एक नई रिपोर्ट को पब्लिश किया है।


उस रिपोर्ट में कथित रूप से कहा गया है कि युवेंटस के खिलाफ फाइनल गेम से पहले रामोस द्वारा दिया गया यूरीन सैंपल का टेस्ट पॉज़ीटिव आया था। उनके यूरिन सैंपल में डेक्सामीथासोन पाया गया था जो एक बैन पदार्थ है। इस पॉज़ीटिव टेस्ट के बावजूद UEFA ने ​रियल मैड्रिड या रामोस के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया था।

गोल के मुताबिक शुक्रवार को जारी किए गए एक स्टेटमेंट में रियल मैड्रिड ने इस आरोप से इंकार किया है। उनका स्टेटमेंट कहता है, 'डेर स्पीगल द्वारा जारी की गई सूचना जो कि हमारे कैप्टन सर्जियो रामोस को रेफर करता है उस पर क्लब का कहना है कि रामोस ने कभी भी एंटी डोपिंग कंट्रोल रेगुलेशन को नहीं तोड़ा है।


'UEFA ने समय-समय पर सूचना का अनुरोध किया और इन मामलों में सामान्य रूप से विश्व एंटी-डोपिंग एजेंसी, AMA और UEFA के विशेषज्ञों द्वारा सत्यापन के बाद मामले को बंद कर दिया। उपयुक्त प्रकाशन की शेष सामग्री के बारे में, क्लब इस तरह की एक असंवेदनशील प्रकृति के साक्ष्य को संबोधित नहीं करेगा।'