स्वीडिश लेजेंड ज़्लाटान इब्राहिमोविच ने एक हालिया इंटरव्यू में खुलासा किया है कि कैसे आर्सनल लेजेंड पैट्रिक विएरा ने उनके मैनचेस्टर यूनाइटेड मूव करने में बड़ा रोल प्ले किया था।


विएरा और ज़्लाटान दोनों युवेंटस में एकसाथ खेल चुके हैं और ज़्लाटान का मानना है कि विएरा ने उन्हें एक बेहतर प्लेयर बनने में काफी मदद की है।


ज़्लाटान ने एक हालिया इंटरव्यू में खुलासा किया है कि विएरा उन प्लेयर्स में से एक थे जिन्होंने ज़्लाटान को करियर के इस मोड़ पर प्रीमियर लीग मूव करने से मना किया था।


BBC के फुटबॉल डेली में बात करते हुए ज़्लाटान ने कहा, 'विएरा एक शानदार प्लेयर थे। वह बॉक्स टू बॉक्स खेलते थे, क्वॉलिटी और गुड मेंटैलिटी वाले प्लेयर। जब वह युवेंटस आए थे तो मेरे गेम पर उनका काफी प्रभाव पड़ा था। हर दिन ट्रेनिंग करना अच्छा था। आप जिस तरीके से ट्रेनिंग करते हैं उसी तरीके से खेलते भी हैं और वह हमेशा मेरे ऊपर ही रहते थे।


जब आप किसी पर चिल्लाते हैं, किसी पर प्रेशर डालते हैं तो नॉर्मली अलग-अलग पर्सनैलिटी, कैरेक्टर के चलते  प्रेशर वापस नहीं आता। लेकिन उनकी तरफ से यह दोगुना आता था और मुझे इसकी आदत नहीं थी इसलिए वह हमेशा मेरे ऊपर ही रहते थे।'

बकौल ज़्लाटान जब वह मैनचेस्टर यूनाइटेड के ऑफर पर विचार कर रहे थे तब उन्होंने कई प्लेयर्स से बात की थी जिसमें विएरा भी शामिल थे।


ज़्लाटान ने इस बारे में कहा, 'और उन सभी में से, सबने कहाः ऐसा मत को। यह तुम्हारे करियर के लिए अच्छा नहीं है क्योंकि तुम एक साल (यूनाइटेड का कॉन्ट्रैक्ट ऑफर एक साल प्लस एक साल का था) के लिए अपना पूरा करियर दांव पर लगा रहे हो।


अगर तुम्हारा सीजन अच्छा नहीं रहा तो लोग कहेंगे कि इससे पहले तुमने जो भी किया वह सब बेकार था क्योंकि तुम इंग्लैंड में अच्छा नहीं कर सके... खासतौर से इंग्लिश लोग ऐसा ही करेंगे। वे कहेंगेः हां ठीक है तुमने वहां किया लेकिन तुम यहां नहीं कर पाए। लेकिन फिर इसने मुझे उत्तेजित किया, क्योंकि यही तो चैलेंज था जो मुझे चाहिए। इसलिए मैं सबके खिलाफ गया और यह ठीक वही था जो मैं करना चाहता था।'