बीते 3 अक्टूबर को पार्स डे प्रिंसेज स्टेडियम में पेरिस सेंट जर्मेन और रेड स्टार बेलग्राद के बीच हुए चैंपियंस लीग मैच पर फिक्सिंग का आरोप लगा है। रिपोर्ट्स हैं कि फ्रेंच अथॉरिटीज ने मामले की जांच करने का फैसला कर लिया है।


गौरतलब है कि फ्रांस के प्रसिद्ध नेशनल डेली ला एक्विपे में छपी खबर में दावा किया गया था सर्बियन चैंपियंस के एक डायरेक्टर ने मैच के रिजल्ट पर 5 मिलियन यूरो का सट्टा लगाया था। डायरेक्टर का अनुमान पूरी तरह से सही साबित होने के बाद मैच के फिक्स होने का संदेह गहरा गया।


UEFA को एक विश्वसनीय सूत्र ने अलर्ट करते हुए इस गेम के बारे में जानकारी दी है। एल एक्विपे के मुताबिक UEFA ने इससे संबंधित अथॉरिटीज को अलर्ट कर दिया है।

इस सूत्र की पहचान का खुलासा ना करते हुए अखबार ने इसे बेहद विश्वसनीय बताया है। खबर है कि अनाम रेड स्टार एग्जिक्यूटिव ने कई लोगों के नेटवर्क के सहारे पांच मिलियन यूरो का सट्टा इस बात पर लगाया था कि सर्बियन साइड पांच गोल के अंतर से हारेगी।


नेमार की हैटट्रिक के दम पर मैच का रिजल्ट 6-1 से पेरिस के पक्ष में रहा और एग्जिक्यूटिव की बात पूरी तरह से सही साबित हो गई।


अगर दावों में सच्चाई है तो इस डायरेक्टर ने इस मैच से 10 मिलियन यूरो यानि कि 85 करोड़ रुपये से ज्यादा की कमाई की है। इस बीच जांच शुरू होते-होते दोनों क्लबों ने फिक्सिंग के आरोपों को खारिज किया है।