मैनचेस्टर यूनाइटेड अपने करंट सीजन के दौरान फर्स्ट टीम के आठ प्लेयर्स के कॉन्ट्रैक्ट को बढ़ाने की प्लानिंग कर रहा है। कहा जा रहा है कि क्लब के इस फैसले के पीछे अपने अहम प्लेयर्स के फ्यूचर को ओल्ड ट्रैफर्ड में सेक्योर करना है।


बता दें कि स्टॉपर डेविड डे हेया, एंटोनियो वलेंसिया, फिल जोन्स, क्रिस स्मॉलिंग, मैटेओ डरमियान, आंद्रेआस परेरा, जेम्स विल्सन और एंथनी मार्सियाल ये आठ प्लेयर्स अपने करंट कॉन्ट्रैक्ट के आखिरी साल में हैं। हालांकि क्लब के पास पहले ही इन आठ प्लेयर्स के कॉन्ट्रैक्ट में मौजूद एक क्लॉज के कारण उनके कॉन्ट्रैक्ट को एक साल बढ़ाने का ऑप्शन मौजूद है।

बता दें किमैनचेस्टर यूनाइटेड ने पिछले सीजन इस क्लॉज का इस्तमाल कर 6 प्लेयर्स की डील को एक्सटेंड करने के बाद डैले ब्लिंड को बेच दिया था। अगर रेड डेविल्स जनवरी तक ल्यूक शॉ, एश्ले यंग, हुआन माटा और एंडर हरेरा के कॉन्ट्रैक्ट को रिन्यू नहीं करते हैं तो ये सारे प्लेयर्स जनवरी ट्रांसफर मार्केट में उनमें दिलचस्पी ले रहे क्लबों से बात करने के लिए फ्री होंगे।


मैनचेस्टर ईवनिंग न्यूज़ ने खुलासा किया है कि फर्स्ट टीम के इन 8 प्लेयर्स जिनका जिक्र किया गया है उनमें से डे हेया और मार्सियाल कॉन्ट्रैक्ट एक्सटेंशन के मामले में क्लब की प्रायॉरिटी लिस्ट में टॉप पर हैं। बता दें कि मैटेओ डरमियान को मैनचेस्टर यूनाइटेड समर के दौरान बेचना चाहता था।


पर उसे प्लेयर के लिए कोई अच्छा ऑफर नहीं मिला। इधर होज़े मोरीनियो की टीम में अपने प्लेस के लिए मजबूत दावा करने के बाद फाइनली परेरा को कॉन्ट्रैक्ट एक्सटेंशन के लिए एक वास्तविक कंटेंडर माना जा रहा है।


उम्मीद की जा रही है कि माटा, हरेरा, शॉ और यंग जनवरी में एक नई डील के लिए सहमत हो जाएंगे। अगर यूनाइटेड इन चार प्लेयर्स के फ्यूचर को ओल्ड ट्रैफर्ड में सेक्योर करने में नाकाम हुआ तो यह उसके लिए आर्थिक रूप से एक बहुत बड़ा नुकसान होगा क्योंकि समर के दौरान ये सारे प्लेयर्स एक फ्री एजेंट होंगे।