SAFF कप कैम्पेन की विजयी शुरुआत के बावजूद गत-चैंपियंस भारत के मैनेजर स्टीफन कॉन्स्टेनटिन ने अपने प्लेयर्स को चेतावनी देते हुए कहा है कि वे मालदीव्स के खिलाफ ग्रुप-स्टेज के आखिरी मुकाबले को हल्के में नहीं ले सकते।


कॉन्स्टेनटिन ने कहा, "हम इस कम्पटीशन के किसी भी मुकाबले में फेवरेट के रूप में स्टार्ट नहीं करेंगे। हमारी साइड युवा और अनुभवहीन है। हम सीनियर टीमों से भिड़ रहे हैं। हमारे पास गेम जीतने का अच्छा मौका है लेकिन मुझे नहीं लगता कि हमें किक-ऑफ से ही गेम जीतने का फेवरेट्स कहा जा सकता है।"

भारत ने मालदीव्स के खिलाफ अपने 18 में से 13 मुकाबले जीते हैं। पिछली बार दोनों टीमों की मुलाकात 2015-16 SAFF कप के सेमी-फाइनल में हुई थी जहां भारत ने जेजे और सुनील छेत्री के गोल्स की मदद से 3-2 की जीत दर्ज की थी।


हालांकि कॉन्स्टेनटिन ने कहा, "मैं इतिहास पर ज्यादा यकीन नहीं रखता। बेशक, 13 बार जीतने का स्टैट सुनने में अच्छा लगता है लेकिन इससे गेम पर कोई फर्क नहीं पड़ता।


हम एक पूरी तरह से अलग मालदीव्स टीम से भिड़ेंगे। अगर हमने एक ही प्लेयर्स के सेट के साथ वो 13 मैच जीते होते तो कहानी अलग होती। लेकिन दोनों टीमें बदल चुकी हैं।"

मालदीव्स ने श्रीलंका के खिलाफ ओपनिंग मुकाबले में गोलरहित ड्रॉ खेला था।


भारत और मालदीव्स के बीच होने वाला यह मुकाबला ढाका के बंगबंधु स्टेडियम में आज शाम 06:30 बजे से खेला जाना है।