​FT: आर्सनल 0-2 मैनचेस्टर सिटी (स्टर्लिंग 14', बर्नार्डो 64')


नॉर्थ-लंदन के एमिरेट्स स्टेडियम में बीती रात खेले गए प्रीमियर लीग के अपने ओपनिंग मुकाबले में चैंपियंस मैनचेस्टर सिटी ने रहीम स्टर्लिंग और बर्नार्डो सिल्वा के गोल्स की बदौलत आर्सनल पर 2-0 की आसान जीत दर्ज की।


आइए नज़र डालते हैं मैच से निकलने वाले 3 निष्कर्षों पर...


1. टाइटल डिफेंड करने के लिए तैयार है सिटी 

Arsenal v Manchester City - Premier League

2008-09 सीजन से प्रीमियर लीग टाइटल रिटेन नहीं हुआ है, लेकिन मैनचेस्टर सिटी जैसी डॉमिनेंट टीम भी पिछले एक दशक में देखने नहीं मिली है। इंग्लिश टॉप फ्लाइट में जबरदस्त कम्पटीशन है: लिवरपूल ने काफी इम्प्रूव किया है, चेल्सी के पास यूरोप का सबसे दिलचस्प मैनेजर है और स्पर्स एवं मैनचेस्टर यूनाइटेड को भी भुलाया नहीं जा सकता।


लेकिन पिछले सीजन रिकॉर्ड पॉइंट्स हासिल करने वाली सिटी ने एमिरेट्स में रहीम स्टर्लिंग और बर्नार्डो सिल्वा के  गोल्स की मदद से एमिरट्स में आर्सनल पर आसान जीत दर्ज कर अपने इरादे साफ़ कर दिए।


आर्सनल बेंच में उनाइ एमरी के डेब्यू पर सभी की नज़रें थीं लेकिन इंग्लिश फुटबॉल के अपने पहले ही मैच में उन्हें पेप गार्डिओला और मिकेल अर्टेटा जैसे टैक्टिकल जीनियसों के सामने नतमस्तक होना पड़ा।


सिटी अपने सिस्टम में काफी कम्फर्टेबल नज़र आई, उनकी पासिंग खूबसूरत थी और फ्लूइड थी। डेविड सिल्वा और केविन डे ब्रूयना के स्टार्ट न करने के बावजूद सिटी को कोई दिक्कत नहीं आईं। वहीं आर्सनल को एमरी के टैक्टिकल और टेक्निकल अप्रोच से ढलने में वक्त लगेगा।


 2. एमरी के अंडर काफी बेहतर कर सकती है आर्सनल 

Arsenal FC v Manchester City - Premier League

आर्सनल के लिए प्रीमियर लीग 2018/19 के ओपनिंग फिक्सचर्स काफी मुश्किल हैं। मैनचेस्टर सिटी के खिलाफ  ओपनिंग मुकाबले के बाद अब उन्हें चेल्सी से भिड़ना है। बीती रात एमरी के लिए मुकाबला शुरू से ही मुश्किल होने वाला था, लेकिन गेम के कुछ फेज़ देखकर कहा जा सकता है कि आर्सनल सही दिशा में है।


आर्सनल ने पिछले सीजन की तुलना में बेहतर तरीके से प्रेसिंग की और तीन-चार खिलाड़ियों के ग्रुप में सिटी प्लेयर्स पर दबाव डाला। हालांकि एडरसन, जॉन स्टोन्स और अयमेरिक लपोर्ट जैसे डिफेंडर्स से पजेशन जीतना मुश्किल था और सिटी पूरा दबाव झेलकर अपना फुटबॉल खेलने में कामयाब रही, लेकिन फिर भी गनर्स दूसरे हाफ में कई मौकों पर सिटी डिफेंस को तकलीफ देने में सफल रहे।


हालांकि एमरी की परेशानी टीम का डिफेंस है। कोच चाहते हैं कि टीम अपने अटैक को बैक से बिल्ड-अप करे लेकिन पेटर चेक पजेशन में कम्फर्टेबल नहीं हैं, वहीं सोक्रटिस और मुस्ताफी की सेंटर-बैक पेयरिंग भी किसी तरह का कॉन्फिडेंस नहीं देती जिसके चलते इस अप्रोच को इम्प्लीमेंट करने में मैनेजर को थोड़ा वक्त लग सकता है। 


3. पेप की नई टैक्टिस और सिटी का अगला लेवल

FBL-ENG-PR-ARSENAL-MAN CITY

मैनचेस्टर सिटी ने बीते सीजन की ही तरह अथॉरिटी और कंट्रोल के साथ खेला, उन्होंने पजेशन डॉमिनेट किया , अच्छी प्रेसिंग की, फॉरवर्ड्स लगातार खतरनाक दिखे। लेकिन सीजन दर सीजन गार्डिओला अपनी टैक्टिस में एवोल्यूशन लाने की कोशिश करते हैं और एमिरेट्स में भी हमें कुछ ऐसा ही देखने को मिला।


जहां पेप पिछले सीजन गेम स्ट्रेच करने और पिच की विड्थ का इस्तेमाल करने के लिए अपने विन्गर्स पर निर्भर थे, बीती रातए मिरेट्स में उनका अप्रोच अलग था। स्टर्लिंग लेफ्ट-फ्लैंक और रियाद माहरेज़ राइट-फ्लैंक में इनवर्टेड विन्गर्स के रूप में खेलते नज़र आए, वहीं काइल वॉकर ने ओवरलैप कर टीम को विड्थ दी।


बेंजामिन मेंडी ने कभी लेफ्ट-फ्लैंक में ओवरलैप किया तो कभी मिडफ़ील्ड में आकर फर्नांडिनियो को सपोर्ट दिया। 

मेंडी के अच्छे प्रदर्शन के चलते ही स्टर्लिंग कई बार हेक्टर बेयरिन के साथ वन ऑन वन सिचुएशन में आए, वहीं बर्नार्डो सिल्वा के गोल के लिए मेंडी ने ही क्रॉस दिया।


गार्डिओला ने सुझाव दिया है कि सिटी इस सीजन और भी बेहतर हो सकती है, और अब तक दिए गए सबूतों के अनुसार उनसे असहमति जताना मुश्किल है।