रूसी पुलिस डिपार्टमेंट ने वर्ल्ड कप के लिए रूस जा रहे इंग्लिश फैंस को इंग्लैंड का झंडा ले जाने से मना किया है।


फुटबॉल पोलिसिंग डिपार्टमेंट की मीटिंग के बाद डिप्टी चीफ कांस्टेबल मार्क्स रोबर्ट्स ने मीडिया से रूबरू होते हुए इंग्लिश सपोर्टर्स को सावधान किया। उन्होंने कहा कि अगर उन्हें अपने स्वास्थ्य की परवाह है तो रूस आने के बाद इंग्लैंड के नेशनल फ्लैग को पब्लिक में नहीं फहराएं। पुलिस ने विशेष चेतावनी रूस विरोधी नारों के ऊपर दी है और कहा है कि ऐसा करना मूर्खता होगी

गौरतलब है कि इंग्लैंड और रूस के रिश्तों में लंबे वक्त से तनाव है। फ्रांस में हुए 2016 यूरो कप के दौरान मार्सेय में ब्रिटिश और रूसी फैंस के बीच कई मुठभेड़ देखने को मिली थी। जिसके बाद कुल 1710 इंग्लिश सपोर्टर्स को फ्रेंच पुलिस ने हिरासत में लिया था और 91 लोगों पर फुटबॉल मैच देखने से बैन लगाया गया था


इन सब घटनाओं को देखते हुए फुटबॉल पोलिसिंग डिपार्टमेंट इंग्लिश सपोर्टर्स को लेकर काफी सतर्क है। मार्क रोबर्ट्स कहते है कि जब हम किसी देश में जाते है उस जगह की रेस्पेक्ट करते है पर इंग्लिश फैंस के साथ ऐसा नहीं है। रूस आकर आप रूस की बुराई करेंगे तो इससे हिंसा होगी


मार्क रोबर्ट्स ने कहा, "हम लोगों ने पहले भी देखा है, इंग्लिश सपोर्टर्स स्पेन जाते हैं और जिब्राल्टार के गाने गाते हैं, जर्मनी जाते है तो विश्व युद्ध के गीत गाते हैं। मैं बता नहीं सकता रूस में ऐसा करना कितनी बड़ी बेवकूफी होगी।"


सपोर्टर्स को चाहिए वे यहां आए, इस देश की रेस्पेक्ट करें, यहां के लोगो का आदर करें, दोस्त बनाएं और मस्ती करें। लोगो को एंटी सोशल चीजों से दूर रहना चाहिए। यहां आकर जेल जाना कितनी बड़ी मूर्खता है।"