Supporters cheer during the UEFA Champions League first leg quarter-final football match between Liverpool and Manchester City, at Anfield stadium in Liverpool, north west England on April 4, 2018. / AFP PHOTO / PAUL ELLIS        (Photo credit should read PAUL ELLIS/AFP/Getty Images)

चैंपियंस लीग के 5 चौंका देने वाले सेकंड लेग कमबैक्स

बार्सिलोना 4-1 रोमा 

लिवरपूल 3-0 मैनचेस्टर सिटी 

युवेंटस 0-3 रियल मैड्रिड  

सेविया 1-2 बायर्न म्यूनिख  


इस सीजन चैंपियंस लीग के क्वॉर्टर-फाइनल्स के फर्स्ट लेग एकतरफा रहे हैं जिसके चलते टाई में पिछड़ी टीमों को ज्यादा चांस नहीं दिया जा रहा है। लेकिन फुटबॉल अनिश्चितताओं का खेल है और अक्सर चैंपियंस लीग में हमने चमत्कार होते देखे हैं। आइए जानें चैंपियंस लीग में हुए ऐसे ही 5 शानदार कम-बैक्स के बारे में... 

5. बार्सिलोना vs मिलान, 2012-13- फर्स्ट लेग में 2-0 से पिछड़ी बार्सा ने टाई 4-2 से जीती

फर्स्ट लेग में 2-0 से पिछड़ने के बाद वापसी करना बड़ी अचीवमेंट नहीं लगती, खासकर यह ध्यान में रखते हुए कि इस बार्सिलोना टीम के पास वर्ल्ड के सबसे शानदार प्लेयर्स थे। लेकिन जब बार्सिलोना ने मिलान से 2-0 से फर्स्ट लेग गंवाया तो इतिहास उनके विरुद्ध था।


किसी भी टीम ने चैंपियंस लीग एरा में बिना अवे गोल दागे दो गोल्स से पिछड़ने के बाद वापसी नहीं की थी। लेकिन लियोनल मेसी के दो गोल्स और डेविड विया व जॉर्डी अल्बा के गोल्स से बार्सिलोना ने सेकंड लेग में 4-0 से जीत दर्ज की और 4-2 से टाई अपने नाम की।

4. इंटर VS बायर्न म्यूनिख, 2010/11 - फर्स्ट लेग में 1-0 से पिछड़ी इंटर ने अवे गोल्स में टाई जीती

बायर्न को 2010 के फाइनल में हराने के बाद इंटर सिर्फ दूसरी ऐसी साइड बनी जिसने चैंपियंस लीग एरा में फर्स्ट लेग की हार के बाद टाई अपने नाम की। मारियो गोमेज़ के इंजरी टाइम विनर से सैन सिरो में बायर्न ने जीत दर्ज की थी।


सेकंड लेग में जर्मन स्ट्राइकर के एक और गोल और थॉमस मुलर की चिप की मदद से बायर्न एग्रेगेट में 3-0 की बढ़त बना चुकी थी। लेकिन सेकंड हाफ में सैमुएल एटो, वेस्ली श्नाइडर और गोरान पांडेव के गोल्स की मदद से इटैलियंस ने अवे गोल्स के नियम पर क्वॉर्टर-फाइनल में जगह बनाई। हालांकि क्वॉर्टर-फाइनल में उन्हें एक और जर्मन साइड शाल्के से 7-3 से हार का सामना करना पड़ा।

3. मोनाको VS रियल मैड्रिड, 2003-04 - पहले लेग में 4-2 से पिछड़ी मोनाको ने अवे गोल्स में टाई जीती

जब रियल मैड्रिड ने फर्नांडो मोरिएंट्स को ज्यादा गेमटाइम के लिए फ्रेंच क्लब मोनाको को लोन पर दिया तो उन्हें नहीं पता था कि यही मूव उनके चैंपियंस लीग से बाहर होने का कारण बनेगा। मोरिएंट्स के कॉन्ट्रैक्ट में ऐसा कोई क्लॉज़ नहीं था जो कहे कि वह अपने पैरेंट क्लब के ख़िलाफ नहीं खेल पाएंगे।


क्वार्टर-फाइनल्स में जब दोनों की भिड़ंत हुई तो रियल मैड्रिड ने फर्स्ट लेग में 4-2 से जीत दर्ज की थी। लेकिन मोरिएंट्स ने उस गेम में फ्रेंच क्लब के लिए एक महत्वपूर्ण अवे गोल स्कोर किया था। मोनाको ने रिटर्न लेग 2-0 की जीत दर्ज की जिसमें मोरिएंट्स ने एक बार फिर स्कोर किया और फ्रेंच क्लब ने अवे गोल्स के चलते सेमी-फाइनल्स में जगह बनाई।

2. डेपोर्टिवो ला कोरुन्या VS AC मिलान, 2003-04 - फर्स्ट लेग में 4-1 से पिछड़ी डेपोर्टिवो ने टाई 5-4 से जीती

जब आप चैंपियंस लीग के फर्स्ट लेग में मिलान से 4-1 से हारते हैं, खासकर ऐसी मिलान टीम से जिसमें काका, अन्द्रिय शेवचेन्को, आंद्रेआ पिर्लो, काफू और पाओलो माल्दीनी जैसे प्लेयर्स हों, तो आप वापसी करने की उम्मीद नहीं करते।


लेकिन डेपोर्टिवो ने सेकंड लेग में शानदार वापसी की और वॉल्टर पंडियानी, कार्लोस वैल्डेरोन, अल्बर्ट लुके के फर्स्ट हाफ गोल्स की मदद से मिलान के एडवांटज को कैंसिल किया। और फ्रान ने मैच में 15 मिनट्स रहते स्कोर कर डेपोर्टिवो को टाई में आगे कर दिया। पिर्लो ने मैच के बारे में कहा, "हम सेमी-फाइनल्स के बारे में पहले ही सोच रहे थे, हम खेलना भूल गए थे... वे उस रात हम पर हंस रहे थे।"

1. बार्सिलोना VS PSG, 2016/17 - फर्स्ट लेग में 4-0 से पिछड़ी बार्सा ने टाई 6-5 से जीती

PSG ने राउंड ऑफ़-16 के फर्स्ट लेग में बार्सिलोना को 4-0 से पीट दिया था और बार्सिलोना टाई से लगभग बाहर हो चुकी थी। लेकिन बार्सा ने अपने होम लेग में तगड़ी वापसी करते हुए फर्स्ट हाफ में 3-0 की बढ़त बना ली थी।लेकिन एडिंसन कवानी ने सेकंड हाफ में PSG के लिए अवे गोल स्कोर किया जिससे बार्सिलोना नॉकआउट होने के करीब पहुंच गई।


घड़ी में 88 मिनट्स हो चुके थे और बार्सिलोना को अब भी तीन गोल्स की दरकार थी। नेमार ने फ्री-किक से स्कोर कर बार्सिलोना फैंस की उम्मीदें जगाईं, जल्द ही उन्होंने पेनल्टी से भी स्कोर किया और फिर इंजरी टाइम के पांचवे मिनट में सर्जी रोबर्टो ने नेमार के क्रॉस पर गोल दागकर बार्सिलोना को जीत दिला दी। लुइस एनरिके ने मैच के बाद कहा, "यह गेम ड्रामा नहीं बल्कि एक हॉरर मूवी की तरह था।"