चैंपियंस लीग लास्ट-8 पावर रैंकिंग्स: सभी टीमों के जीतने की संभावनाओं का आंकलन

​चैंपियंस लीग के राउंड ऑफ़-16 के मुकाबले खत्म हो चुके हैं और हमें 2017-18 सीजन के लिए अपनी आखिरी आठ टीमें मिल चुकी हैं। इस सीजन चैंपियंस लीग में स्पैनिश लीग ला लीगा से सबसे अधिक तीन टीमें हैं, वहीं इंग्लिश प्रीमियर लीग से दो टीमें, इटैलियन सेरी ए से दो टीमें और जर्मन बुंदसलिगा से एक टीम है।


फाइनल-8 टीमें:

ला लीगा - रियल मैड्रिड, बार्सिलोना, सेविया

प्रीमियर लीग - मैनचेस्टर सिटी , लिवरपूल

सेरी ए - रोमा, युवेंटस

बुंदसलिगा - बायर्न म्यूनिख


इस आर्टिकल में हम इन सभी टीमों को चैंपियंस लीग जीतने की सम्भावनाओं के अनुसार रैंक करेंगे... 

8. सेविया - स्पेन

क्यों जीतेंगे 

उन्होंने 60 साल में पहली बार चैंपियंस लीग के क्वॉर्टर-फाइनल में पहुंचकर इतिहास रचा है और लास्ट-8 में बिना डर के खेलेंगे। विंसेंजो मोंटेला की टीम की रीढ़ काफी मजबूत है।


स्टीवन एनजॉन्ज़ी टीम को एक सॉलिड बेस देते हैं और एवर बनेगा क्रिएटिव मिडफील्डर की भूमिका निभाते हैं। विसाम बेन एडेर के रूप में उनके पास कम्पटीशन का सेकंड हाईएस्ट गोलस्कोरर है। उनके पास तीन बार  यूरोपा लीग जीतने का भी अनुभव है। 


क्यों नहीं जीतेंगे

ओल्ड ट्रैफर्ड में ऐतिहासिक जीत के बाद भी यूनाइटेड के अप्रोच और खराब परफॉरमेंस की वजह से सेविया लास्ट-8 में है। यूनाइटेड ने उनकी कमजोरियों को एक्सपोज़ करने का कोई इनिशिएटिव नहीं लिया।


वे ला लीगा में पांचवे पोजीशन पर हैं और उनका गोल डिफ़रेंस -6 का है। उन्होंने इस सीजन पांच दफा पांच से अधिक गोल्स कंसीड किए हैं।

7. रोमा - इटली

क्यों जीतेंगे

रोमा ने ग्रुप स्टेज में चेल्सी और एटलेटिको मैड्रिड जैसी टीम्स होने के बावजूद ग्रुप टॉप किया था। उनके पास गोलकीपिंग का मेसी 'एलिसन बेकर' भी है, जिन्होंने इस सीजन स्टैडियो ओलम्पिको में एक भी चैंपियंस लीग गोल कंसीड नहीं किया है।


रोमा ने अपने पिछले छह मुकाबलों में चार क्लीन शीट्स रखी हैं और सही समय पर फॉर्म पकड़ते नज़र आ रहे हैं। अगर वे अपनी फॉर्म और कॉन्फिडेंस को बरकरार रख पाते हैं तो मई में क्यीव जा सकते हैं।  


क्यों नहीं जीतेंगे 

रोमा सेरी ए में टॉप-2 टीम्स नापोली और युवेंटस से 14 पॉइंट्स पीछे है और उनकी पहली प्रायोरिटी अगले सीजन के चैंपियंस लीग के लिए क्वॉलिफाई करना है।


इसके लिए उन्हें लाज़ियो और इंटर से टक्कर मिल रही है और उनके चैंपियंस लीग प्रोग्रेस के आड़े डोमेस्टिक कम्पटीशन आ सकता है।

6. युवेंटस - इटली

क्यों जीतेंगे

युवे ने स्पर्स को हराकर बड़े कम्पटीशन के बड़े मोमेंट में अपनी तगड़ी विनिंग मेंटैलिटी दिखाई थी। टीम के पास अनुभव की कोई कमी नहीं है और उन्होंने पिछले तीन सालों में से दो फाइनल्स का सफर तय किया है।


युवे के गोलकीपर जानलुइजी बुफों ने अब तक चैंपियंस लीग नहीं जीता है और वह करियर खत्म करने के पहले टाइटल जीतने के लिए बेताब हैं। टीम के पास मैक्स अलेग्री में रूप में शानदार टैक्टिशियन है जो अहम मोमेंट्स में अपने बदलावों से गेम पलटने का माद्दा रखता है।


क्यों नहीं जीतेंगे

रियल मैड्रिड और बार्सिलोना से दो फाइनल्स में हार चुके हैं और अंतिम स्टेज में क्वॉलिटी की कमी नज़र आई है। सेरी ए में नापोली से कड़ी टक्कर मिल रही है और एक स्लिप भी लगातार सात स्कूडेटो जीतने का सपना तोड़ सकती है। 


युवेंटस के पास एक उम्रदराज स्क्वॉड है और चैंपियंस लीग व डोमेस्टिक टाइटल के बीच बैलेंस बिठाना उनके लिए काफी मुश्किल है।

5. लिवरपूल - इंग्लैंड

क्यों जीतेंगे

रेड्स के पास शानदार अटैक हैं और उन्होंने कम्पटीशन में बची हुई टीमों की तुलना में छह गोल्स अधिक दागे हैं। उनके चार प्लेयर्स टॉप-10 गोलस्कोरर्स की लिस्ट में हैं। सालाह, फिर्मिनियो और माने के अटैक को रोकना यूरोप के किसी भी डिफेंस के लिए नामुमकिन साबित हो सकता है।


यर्गन क्लौप्प का कम्पटीशन में रिकॉर्ड भी अच्छा है और उन्होंने डॉर्टमंड को सेमी-फाइनल्स और फाइनल में पहुंचाया है। डोमेस्टिक कम्पटीशन में टॉप-4 की ज्यादा चिंता नहीं है और वे इस कम्पटीशन में अपना पूरा फोकस कर सकते हैं। 


क्यों नहीं जीतेंगे 

डिफेंस कमज़ोर है। रिलाएबल गोलकीपर नहीं है। सिटी को हराने के बावजूद प्रीमियर लीग लीडर्स के ख़िलाफ उन्होंने आठ गोल्स कंसीड किए थे। फैंस डेजन लॉवरेन को रोनाल्डो और मेसी के खिलाफ डिफेंड करते नहीं देखना चाहेंगे, क्लौप्प के अनुभव के बावजूद स्क्वॉड पूरी तरह कम्प्लीट नहीं है।

4. बायर्न म्यूनिख - जर्मनी

क्यों जीतेंगे 

यप्प हैंकेस ने 2013 में रिटायर होने के पहले ट्रेबल जीता था। अब वह वापस आ चुके हैं और बायर्न के साथ एक और शानदार सीजन टार्गेट कर रहे हैं। बायर्न ने बेसिक्तास को आसानी से हराया था और उन्होंने अब तक 20 गोल्स दागे हैं।


वे बुंदसलिगा में 20 पॉइंट्स क्लियर हैं और सिर्फ DFB पोकल का सेमी-फाइनल उनके चैंपियंस लीग की तैयारियों में दखल दे सकता है। बायर्न एक विनिंग मशीन है और स्टार गोलकीपर मैनुएल नोएर भी फुल फिटनेस के करीब हैं। उन्हें दो लेग्स में हराने के लिए एक बड़े एफर्ट की आवश्यकता होगी।


क्यों नहीं जीतेंगे 

बुंदसलिगा झोली में है और लास्ट-16 में भी उन्हें टेस्ट नहीं किया गया है। PSG के ख़िलाफ अपने सबसे टेस्ट में वे फेल हो गए थे और 3-0 की हार झेली थी। रियल मैड्रिड, बार्सिलोना और मैनचेस्टर सिटी का चैलेंज उनके लिए भारी पड़ सकता है।

3. रियल मैड्रिड - स्पेन

​क्यों जीतेंगे 

अपने डोमेस्टिक स्ट्रगल के बावजूद ज़िनेदिन ज़िदान की साइड ने पिछले चार सालों में तीन बार इस कम्पटीशन को जीता है। मैड्रिड ला लीगा में तीसरे पोजीशन पर है और बार्सिलोना से 15 पॉइंट्स पीछे है। लेकिन कोच के पास यूरोप के लिए पर्फेक्ट प्लान है।


रियल को अपना सीजन बचाने के लिए यूरोपियन कप जीतना ही होगा। टीम के पास रोनाल्डो, रामोस, लुका मॉड्रिच के रूप में मैच विनर्स मौजूद हैं और उन्हें कम आंकना बेवकूफी होगी।


क्यों नहीं जीतेंगे 

रियल मैड्रिड का डिफेंस इस सीजन कमजोर नज़र आया है। उन्होंने एटलेटिको और बार्सिलोना के ख़िलाफ कम्बाइंड पांच गोल्स कंसीड किए थे। लास्ट-8 में सिर्फ सेविया ने उनसे अधिक गोल्स कंसीड किए हैं।


उन्होंने डिफेंस में कई गलतियां की हैं और टीम के स्ट्रक्चर में प्रॉब्लम है। एक मजबूत टैक्टिकल प्लान के बिना टीम अंतिम स्टेज में टीम बिखर सकती है।

2. बार्सिलोना - स्पेन

​क्यों जीतेंगे 

कैटलन टीम ने इस सीजन रियल मैड्रिड पर डोमेस्टिक डोमिनेंस बनाई है और चैंपियंस लीग में भी अच्छा कर रहे हैं। लेकिन पिछले चार सालों में उन्होंने सिर्फ एक बार सेमी-फाइनल्स का सफर तय किया है। एटलेटिको ने उन्हें दो बार बाहर किया था और पिछले सीजन युवेंटस ने उन्हें बाहर किया था।


अर्नेस्टो वाल्वेर्डे की टीम बैक में सॉलिड है और उन्होंने ग्रुप स्टेज में केवल एक गोल कंसीड किया है। टीम काफी एफिशिएंट है और उनके पास लियोनेल मेसी हैं।


क्यों नहीं जीतेंगे 

बार्सिलोना की चिंता उनकी कमजोरी नहीं बल्कि उनके राइवल्स की ताकत है। रियल मैड्रिड के पास इस सीजन सिर्फ चैंपियंस लीग जीतने का मौका है। वहीं मैनचेस्टर सिटी को इस सीजन रोकना मुश्किल नज़र रहा है।


आंद्रेस इनिएस्ता फीके पड़ते जा रहे हैं, वहीं सर्जियो बुस्केट्स जैसे किसी प्रमुख खिलाड़ी की चोट उनकी संभावनाओं को धूमिल कर देगी।

8 / 8

1. मैनचेस्टर सिटी - इंग्लैंड

The Manchester City starting XI; (L-R top row) Manchester City's Brazilian goalkeeper Ederson, Manchester City's Ivorian midfielder Yaya Toure, Manchester City's English defender Kyle Walker, Manchester City's French defender Eliaquim Mangala, Manchester City's Brazilian defender Danilo, Manchester City's Argentinian defender Nicolas Otamendi, (L-R bottom row) Manchester City's Argentinian striker Sergio Aguero, Manchester City's German midfielder Ilkay Gundogan, Manchester City's Belgian midfielder Kevin De Bruyne, Manchester City's English midfielder Raheem Sterling and Manchester City's Portuguese midfielder Bernardo Silva pose for the official team photograph during the UEFA Champions League Group F football match between Manchester City and Feyenoord at the Etihad Stadium in Manchester, north west England, on November 21, 2017. / AFP PHOTO / Oli SCARFF        (Photo credit should read OLI SCARFF/AFP/Getty Images)

​क्यों जीतेंगे

प्रीमियर लीग की बेस्ट टीम हैं और शायद यूरोप की सबसे मजबूत टीम भी। पेप गार्डिओला के खिलाड़ियों के पास इस सीजन अपनी काबिलियत दिखाने का शानदार मौका है।


प्रीमियर लीग उनके पास है और उनका पूरा ध्यान अपना पहला यूरोपियन कप जीतने पर होगा। उनमें चैंपियंस लीग की हर बड़ी टीम को नॉकआउट करने का दमखम है।


क्यों नहीं जीतेंगे 

अनुभव की कमी। बार्सिलोना, युवेंटस, मैड्रिड और बायर्न जैसी टीमों के पास विनर्स की कोई कमी नहीं है। सिटी के चैंपियंस लीग विनर्स केवल ब्रावो और डनिलो हैं। हालांकि हर चीज़ का एक फर्स्ट-टाइम होता है।


सिटी ने प्रीमियर लीग में हर तरह के विरोधी का बखूबी सामना किया है। टीम का अटैक शानदार है लेकिन यूरोप की बेस्ट फॉरवर्ड लाइंस के सामने उनका डिफेंस बिखर सकता है।

8 / 8