ज़िनेदिन ज़िदान ने मान लिया है कि रियल मैड्रिड को मैनेज करना 'काफी थकाने' वाला है लेकिन उनका यह भी कहना है कि वह अपनी करंट जॉब को छोड़ने के लिए तैयार नहीं हैं।


2016 की शुरुआत में मैड्रिड के बॉस बनने के बाद ज़िदान ने क्लब को 8 ट्रॉफियां जिताई हैं जिनमें बैक टू बैक चैंपियन्स लीग भी शामिल है।


मैड्रिड इस सीजन घरेलू लीग में संघर्ष कर रही है और अपने राइवल्स बार्सिलोना से 17 पॉइंट पीछे हैं और इसके अलावा कोपा डेल रे में उन्हें लेगानेस ने नॉकआउट कर दिया जिससे ज़िदान की जगह खतरे में पड़ गई। 45 वर्षीय फ्रेंचमैन को पता है कि ऐसा समय भी आएगा जब क्लब बदलाव करने के बारे में सोचेगा लेकिन फिलहाल के लिए वह ऐसा कुछ होता नहीं देख रहे हैं।

रविवार को रियल बेटिस के खिलाफ गेम से पहले प्रेस कांफ्रेंस में ज़िदान ने कहा, 'यह काफी थकाने वाला है और रियल मैड्रिड में तो और भी ज्यादा। साफ तौर पर आप ऐसे पॉइंट पर पहुच सकते हैं जहां बदलाव की जरूरत हो और यह केवल कोच के लिए नही बल्कि सभी के लिए लागू होता है। अभी तो ऐसा मोमेंट नहीं आया है लेकिन ऐसा होगा जरूर।'


'यह प्रोफेशन थकाने वाला है और किसी और जगह की अपेक्षा यहां ज्यादा है। मेरे लिए सबसे महत्वपूर्ण वह चीज है जो मैं अभी कर रहा हूं। दिन प्रतिदिन मैं सीजन को बढ़िया तरीके से खत्म करने के बारे में सोच रहा हूं और मैं केवल इसी बारे में सोच रहा हूं।'


चैंपियन्स लीग के क्वॉर्टर फाइनल के फर्स्ट लेग में पेरिस सेंट जर्मेन को 3-1 से हराने के बाद ज़िदान के ऊपर पड़ रहे प्रेशर में थोड़ी कमी आई है। इस सीजन मैड्रिड को केवल यूरोप ही सिल्वरवेयर उठाने का मौका दे रहा है और ज़िदान ने टीम को रोटेट करने के संकेत दे दिए हैं।


ज़िदान ने कहा, 'यही फैसला है, मैं केवल यही चाहता हूं कि मेरे सभी खिलाड़ी उपलब्ध रहें और उस दिन यही केस था। मैं PSG के खिलाफ डॉयमंड फॉर्मेशन में खेलना चाहता था और अब जबकि काफी सारे गेम्स आने वाले हैं तो मैं खिलाड़ियों पर भरोसा करूंगा।'