हाल ही में हैदराबाद फुटबॉल लीग के मेंटर चुने गए इंडियन फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान बाइचुंग भूटिया का मानना है कि आने वाले वक्त में भारत में सिक्स-ए-साइड फुटबॉल फॉर्मेट का ग्रोथ तेज़ी से बढ़ेगा।


हैदराबाद फुटबॉल लीग (HFL) एक ऐसा टूर्नामेंट है जिसमें एक टीम में छह खिलाड़ी खेलते हैं। यह टूर्नामेंट 26 नवंबर से शुरू होकर 27 जनवरी 2018 तक चलेगा जिसमें 135 मुकाबले होंगे।


हाल ही में लीग के मेंटर बने भूटिया का मानना है कि यह फॉर्मेट भविष्य में काफी पॉपुलर हो सकता है।

भूटिया ने रिपोर्टर्स से बातचीत में कहा, "सिक्स-ए-साइड टूर्नामेंट खेलने के लिए शानदार फॉर्मेट है। यह ऐसा स्पोर्ट है जो काफी ग्रो कर रहा है। मुझे लगता है कि यह फॉर्मेट इंडिया में तेज़ी से बढ़ेगा।


ऐसे फॉर्मेट के गेम्स हमेशा ही दिलचस्प होते हैं। साउथ अमेरिकंस भी ऐसे ही स्मॉल साइड के गेम्स खेलते हैं जैसे फाइव-ए-साइड या सिक्स-ए-साइड।


इस फॉर्मेट में बच्चों को बॉल के साथ कॉन्टैक्ट बनाने का ज्यादा मौका मिलता है और इस फॉर्मेट को साउथ अमेरिका में काफी बढ़ावा दिया गया है। मुझे लगता है कि अगले साल से ऑल इंडिया फुटबॉल फेडेरशन को भी ऐसे ही कम प्लेयर्स वाले खिलाड़ियों के गेम्स को इंट्रोड्यूस कराना चाहिए।"


भूटिया का कहना है कि सिक्स-ए-साइड टूर्नामेंट में गेम काफी तेज़ और मज़ेदार होता है। उन्होंने कहा, "केवल बच्चे ही नहीं बल्कि मेरी तरह रिटायर्ड खिलाड़ियों के लिए भी यह खेलने का शानदार फॉर्मेट है।


मैं यहां पर ऑर्गेंनाइज़र्स को इस फॉर्मेट के लिए मेंटर करने आया हूं और हमारा लक्ष्य इसे पॉपुलर बनाना है। सिक्स-ए-साइड टूर्नामेंट का AIFF से कोई लेना-देना नहीं है। यह एक नए तरीके का गेम है और मुझे नहीं लगता कि इससे किसी तरह की दिक्कतें आएंगी।"