लिवरपूल लेजेंड जेमी कैरेघर ने कहा है कि रेड्स के खिलाफ पेरिस सेंट जर्मेन की अनस्पोर्टिंग टैक्टिक्स के बाद उनके प्लेयर्स को अपनी फैमिली का सामना करने में शर्म आनी चाहिए। गौरतलब है कि मैच के बाद लिवरपूल बॉस यर्गन क्लौप्प फ्रेंच क्लब के स्टार प्लेयर्स की हरकतों से खासे नाराज़ नज़र आए थे।


​चैंपियंस लीग के इस गेम में लिवरपूल को 2-1 से हार का सामना करना पड़ा है। बता दें कि मैच के बाद क्लौप्प ने ब्राज़ीलियन स्टार नेमार को पॉइंट आउट कर उनकी आलोचना की है और कहा कि लिवरपूल को कसाई जैसा दिखने पर मजबूर किया गया।


फोर फोर टू के मुताबिक साल 2005 में लिवरपूल के साथ चैंपिंयस लीग जीतने वाले कैराघर ऐसी क्वॉलिटी वाले प्लेयर्स के नाटकों से गुस्सा हैं और उन्हें लगता है कि यह हरकतें खासतौर से नेमार के करियर को ढक ले रही हैं। वायास्पोर्ट से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा, 'यह काफी फ्रस्ट्रेटिंग था।'

'नेमार के साथ खासकर मैच के फर्स्ट हाफ में यह और भी बुरा था। हम दुनिया के बेस्ट प्लेयर्स में से एक के बारे में बात कर रहे हैं पर उसे देखना शर्मनाक था। अगर वह अपने पूरे करियर में इसी तरह करता रहा तो वह एक महान प्लेयर के बजाए इसी के लिए जाना जाएगा।'


'यह एक कड़वी याद है और मेरे पास PSG प्लेयर्स के लिए कोई दया नहीं है। अगर क्लौप्प उनके साथ फ्रस्ट्रेटेड हैं तो यह समझ आता है। कैप्टन थिएगो सिल्वा भी अंत में अपने चेहरे को पकड़े हुए कॉर्नर में लुढक रहे थे। यह एक महान टीम है- PSG, कुछ महान प्लेयर्स के साथ, उन लोगों को इस टैक्टिक्स को बदलने की जरूरत नहीं है।'


'उन्हें फुटबॉल को बातें करने के लिए छोड़ देना चाहिए। उन लोगों शर्मिंदा होना चाहिए। मुझे नहीं पता कि वे कैसे वापस जाएंगे और अपने परिवार वालों के साथ बीवियों से प्लेयर लॉन्ज में बात करेंगे। फ्लोर पर उस तरह से लुढकते हुए आप केवल किंडरगार्टेन में बच्चों को देखते हैं।'


बता दें कि लिवरपूल को चैंपियंस लीग के लास्ट-16 में जाने के लिए नापोली को किसी भी हाल में हराना होगा।