मंगलवार की देर रात यंग बॉयज के खिलाफ खेले गए चैंपियंस लीग गेम में मिली 1-0 से जीत के बाद मैनचेस्टर यूनाइटेड के मैनेजर होज़े मोरीनियो द्वारा बॉटल्स फेंके जाने पर UEFA उनपर कोई चार्ज़ नहीं लगाएगा।


गौरतलब है कि ओल्ड ट्रैफर्ड में खेल गए गेम के दौरान मिडफील्डर मारुआन फलइनि द्वारा स्कोर किए गोल के बाद मोरीनियो ने उसे सेलिब्रेट करने के लिए टचलाइन पर वॉटर बॉटल के एक केस को किक किया था जबकि उन्होंने दूसरे को अपने हाथों से उठाकर जमीन पर पटका था।


इस घटना ने मीडिया में काफी सुर्खियां बटोरी हैं पर UEFA ने इस मामले को और आगे न ले जाने का फैसला किया है। मोरीनियो द्वारा की गई इस हरकत के लिए UEFA न तो पुर्तगाली कोच पर डिसिप्लीनरी चार्ज़ लगाएगा और न ही मैनचेस्टर यूनाइटेड पर।

फोर फोर टू के मुताबिक यह पहली दफा नहीं है जब मोरीनियो ने अपना फ्रस्ट्रेशन पानी की बोतलों पर निकाला है। बता दें कि नवंबर 2016 में वेस्ट हैम के खिलाफ खेले गए एक गेम में ड्रॉ खेलने के बाद ड्रिंक्स को लात मारने के लिए मोरीनियो को फुटबॉल असोसिएशन से एक मैच का टचलाइन बैन झेलना पड़ा था।


पर इस सीजन की शुरुआत में क्रिस्टल पैलेस के खिलाफ अपनी इसी हरकत के लिए मोरीनियो सज़ा से बच निकले थे। मीडिया द्वारा यह पूछे जाने पर कि यंग बॉयज़ पर मिली जीत के बावजूद उन्होंने जो किया आखिरकार क्यों किया, इसपर मोरीनियो ने कहा, 'चैन। इससे पहले फ्रस्ट्रेशन था उसके बाद चैन आया।'


हमने गेम के अंतिम मिनट्स तक इसके लिए नहीं खेला था और न ही हमने स्कोरलेस ड्रॉ के लिए खेला था। फ्रस्ट्रेशन, मैं प्लेयर्स से जरा भी खुश नहीं था। मैं फ्रस्ट्रेट था कि हम स्कोर नहीं कर सके। हां, पर अंत में मेरे प्लेयर्स काफी थके हुए थे और मुझे यह पसंद आया।'


'उनकी थकावट का मतलब था कि उन्होंने सबकुछ दिया। उनके पास अच्छे फुटबॉल के मोमेंट्स थे, काल्पनिक सुंदर गोल्स पर इसके बाद उनपर प्रेशर, कॉन्फिडेंस में कमी थी जिसने हमें फ्रस्ट्रेट किया। अंत में हमने स्कोर किया। मैंने स्टॉपर डेविड डे हेया के सेव के साथ गोल को जोड़ा।'


'उस सेव के बगैर कोई भी विनिंग गोल नहीं होता। अंत में एक गेम रहते ही हमने चैंपियंस लीग के लास्ट-16 के लिए क्वॉलिफाई किया। हमने बहुत संघर्ष किया पर हमने कर दिखाया।'