आर्सनल के जर्मन प्लेमेकर मेसुत ओज़िल ने खुलासा किया है कि पूर्व रियल मैड्रिड स्टार क्रिस्टियानो रोनाल्डो क्लब द्वारा उन्हें बेचे जाने के फैसले से काफी गुस्सा हुए थे।


गौरतलब है कि साल 2013 में विवादास्पद रूप से ओज़िल के रियल मैड्रिड छोड़ने से पहले रोनाल्डो और ओज़िल ने सैंटियागो बर्नबेयु में एकसाथ तीन सीजन बिताए थे। साल 2013 में रियल मैड्रिड ने उस वक्त की वर्ल्ड रिकॉर्ड साइनिंग गारेथ बेल के लिए जगह बनाने की खातिर विवादास्पद रूप से ओज़िल को बेच दिया था।


रियल मैड्रिड फैंस को भरोसा नहीं हुआ था कि उनके सबसे टैलेंटेड प्लेयर्स में से एक को इस तरह से बेचा जा रहा है। ना सिर्फ फैंस बल्कि क्लब के स्टार क्रिस्टियानो रोनाल्डो भी रियल मैड्रिड बोर्ड के इस फैसले से बेहद गुस्सा थे।


ओज़िल के मुताबिक रोनाल्डो ने 45 मिलियन पौंड में उन्हें बेचने के क्लब के फैसले पर काफी गुस्सा जाहिर किया था। ओज़िल के खुलासे से ऐसा लगता है कि रोनाल्डो को इस बात की कोई परवाह नहीं थी कि ओज़िल के जाने के बाद क्लब उनकी जगह भरने के लिए बेल और इस्को को खरीद रहा है।

रोनाल्डो का कहना था कि उनके ज्यादातर गोल्स उनके पीछे ओज़िल की पासिंग और विजन के चलते आते हैं। बकौल रोनाल्डो, 'ओज़िल का बिकना मेरे लिए बुरी खबर है। वह ऐसा प्लेयर था जो गोल के सामने मेरी मूवमेंट्स को सबसे अच्छे तरीके से समझता था। मैं बेहद गुस्सा हूं कि ओज़िल को बेचा जा रहा है।'


ओज़िल ने आगे कहा, 'वीकेंड के दौरान मैं शायद रियल मैड्रिड में रुक सकता था लेकिन बाद में मुझे पता चला कि मैनेजर कार्लो अंचेलोट्टी और बोर्ड मुझपर भरोसा नहीं करते। मैं ऐसा प्लेयर हूं कि मुझमें भरोसा रखने वाले लोगों की जरूरत होती है और मुझे लगा कि आर्सनल में ऐसा होगा। यही वजह थी कि मैंने क्लब से जुड़ने का फैसला किया।'