पूर्व ब्राज़ील इंटरनेशनल डिडा का मानना है कि उनके हमवतन गोलकीपर एलिसन अपना तेज विकास जारी रखते हुए खुद को दुनिया के बेस्ट गोलकीपर्स में से एक बना सकते हैं।


एलिसन के शुरुआती दिनों में उनके साथ ब्राज़ीली क्लब इंटरनैसिओनल में खेल चुके डिडा को अपने पूर्व टीममेट पर पूरा भरोसा है। साल 2016 में रोमा आने के बाद एलिसन को फर्स्ट चॉइस गोलकीपर बनने के लिए इंतजार करना पड़ा था और अंततः वह 2017-18 सीजन में जाकर क्लब के फर्स्ट चॉइस गोलकीपर बन पाए।


महज एक सीजन बाद ही लिवरपूल ने 72.5 मिलियन यूरो की वर्ल्ड रिकॉर्ड फीस देकर उन्हें साइन किया और एलिसन जल्दी ही एनफील्ड में सेटल हो गए। इस सीजन 12 प्रीमियर लीग मैचों में एलिसन ने सात क्लीन शीट्स रखी हैं।


ओमनीस्पोर्ट से बातचीत करते हुए डिडा ने कहा, 'मुझे एलिसन काफी पसंद है, मैं सोचता हूं कि वह एक महान विकेटकीपर है। इंटरनैसिओनल में मैं उसके साथ काम कर चुका हूं। मैंने फुटबॉल में उसकी महान डेवलपमेंट देखी हैः यूरोप जाना, ब्राज़ीलियन नेशनल टीम के लिए खेलना।


मैं उम्मीद करता हूं कि वह वैसे ही बन सकें जैसा लोग उनसे उम्मीद करते हैं, यूरोप में काफी कुछ जीतने के बाद खुद को दुनिया के बेस्ट गोलकीपर्स में से एक बनाएं।'

एलिसन को दुनिया का बेस्ट गोलकीपर बनने के लिए कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ा रहा है। उन्हें चुनौती देने वाले दो अहम नाम जर्मनी से हैं जो अपनी नेशनल टीम की स्टार्टिंग पोजिशन के लिए एक-दूसरे को कड़ी टक्कर दे रहे हैं।


बार्सिलोना के मार्क-आंद्रे टेर स्टेगन से कड़ी टक्कर मिलने के बावजूद मैनुअल नोएर ने जर्मन नेशनल टीम में अपनी जगह बनाए रखने में कामयाबी हासिल की है।


इन दोनों गोलकीपर्स के बारे में बात करते हुए डिडा ने कहा, 'महान गोलकीपर्स, दोनों ही। उन्होंने महान तकनीक और क्षमताएं दिखाई हैं जिसका अर्थ है कि जर्मनी ने सारे कंपटिशंस में हाई लेवल बरकरार रखने में सफलता पाई है।'