BARCELONA, SPAIN - OCTOBER 28:  The Real Madrid team line up for a photo prior to kick off during the La Liga match between FC Barcelona and Real Madrid CF at Camp Nou on October 28, 2018 in Barcelona, Spain.  (Photo by Quality Sport Images/Getty Images )

हुलेन लोपेतेगी के अंडर कैसा रहा बैलन डे ऑर फाइनलिस्ट्स का प्रदर्शन

हुलेन लोपेतेगी को रियल मैड्रिड के मैनेजर की पोस्ट से सैक कर दिया गया है। स्पैनिश नेशनल टीम के पूर्व कोच लोपेतेगी के लिए रियल मैड्रिड टेन्योर बहुत अच्छा नहीं रहा और उन्हें सैंटियागो बर्नबेयु में काफी स्ट्रगल करना पड़ा।


लोपेतेगी को सैक करने के अपने बयान में क्लब ने कहा कि उनके पास आठ ऐसे प्लेयर्स हैं जो इस साल बैलन डे ऑर के लिए शॉर्टलिस्ट हुए हैं और उनके साथ लोपेतेगी को बेहतर करना चाहिए था।


इस बीच जहां लोपेतेगी को टीम के खराब प्रदर्शन का खामियाजा भुगतना पड़ा है वहीं दूसरी तरफ प्लेयर्स पर कोई आंच नहीं आई है। ऐसे में हम इस आर्टिकल के जरिए देखने की कोशिश कर रहे हैं कि कैम्पेन के पहले 14 मैचों में (लोपेतेगी के रियल मैड्रिड करियर में) बैलन डे ऑर के लिए शॉर्टलिस्ट हुए प्लेयर्स ने कैसा परफॉर्म किया।

8. करीम बेंज़ेमा, स्ट्राइकर

करीम बेंज़ेमा (14 मैच, 6 गोल्स)


करीम बेंज़ेमा के घोषित फैन ज़िनेदिन ज़िदान के इस्तीफा देने के बाद लोगों को लगा था कि अब सैंटियागो बर्नबेयु में उनके दिन भी खत्म हुए।


हालांकि रोनाल्डो के जाने और उनकी जगह किसी एलीट प्लेयर के ना आने का मतलब था कि रियल मैड्रिड के नए बॉस हुलेन लोपेतेगी को भी बेंज़ेमा पर भरोगा है लेकिन लोपेतेगी के अंडर 14 मैचों में सिर्फ 6 गोल्स स्कोर करने वाले बेंज़ेमा लोपेतेगी के भरोसे पर खरे नहीं उतर पाए।

7. गारेथ बेल, फॉरवर्ड

गारेथ बेल (12 मैच, 4 गोल्स)


चैंपियंस लीग के फाइनल में बेहतरीन प्रदर्शन कर छुट्टियों पर जाने वाले गारेथ बेल के लिए नए सीजन की शुरुआत अपेक्षानुरूप नहीं रही।


क्रिस्टियानो रोनाल्डो के युवेंटस जाने के बाद बेल क्लब के मुख्य प्लेयर बन गए थे और लोगों को उम्मीद थी कि इस सीजन वह धमाका करेंगे।


लोपेतेगी के अंडर उन्होंने शुरुआत भी अच्छी की थी लेकिन फिर काफी तेजी से वह धीमे पड़ गए और बीते संडे की क्लासिको में उनके प्रदर्शन की तो कई लोगों ने काफी आलोचना की है।

6. इस्को, प्लेमेकर

इस्को (10 मैच, 2 गोल्स)


इस्को स्पैनिश नेशनल टीम के सेटअप में भी लोपेतेगी के साथ काम कर चुके थे लेकिन इसके बावजूद क्लब लेवल पर वह लोपेतेगी के सेटअप में उतने अहम नहीं थे।


लोपेतेगी ने अपने अंडर इस्को को सिर्फ 8 स्टार्ट देते हुए मार्को असेंसियो पर ज्याद भरोसा दिखाया। मिडफील्डर ज़िदान के अंडर एक अहम प्लेयर था लेकिन लगातार मौके ना मिलने के चलते उनकी परफॉर्मेंस पर काफी असर पड़ा।

5. लूका मॉड्रिच, मिडफील्डर

लूका मॉड्रिच (14 मैच, 0 गोल्स)


लूका मॉड्रिच भले ही लोपेतेगी के अंडर पूरे 14 मैच खेले हों लेकिन इस दौरान उनकी परफॉर्मेंस अप टू मार्क नहीं रही।


अब इसे वर्ल्ड कप हैंगओवर कहें या इंटर मिलान से लिंक होने के बाद ध्यान भटकने का परिणाम लेकिन मॉड्रिच किसी भी तरह से लोपेतेगी के भरोसे पर खरे नहीं उतर पाए।

4. मार्सेलो, फुलबैक

मार्सेलो (10 मैच, 3 गोल्स)


रियल मैड्रिड के पिछले कुछ गेम्स देखें तो ब्राज़ीली डिफेंडर निश्चित तौर पर लोपेतेगी की कुर्सी बचाने के लिए सबसे ज्यादा मेहनत करता दिखेगा।


लोपेतेगी की सैकिंग से पहले के तीन मैचों में मार्सेलो ने स्कोर किया और इस दौरान वे रियल मैड्रिड की तरफ से सबसे बेहतर अटैकर रहे लेकिन डिफेंस के मोर्चे पर उन्होंने भी निराशाजनक प्रदर्शन ही किया।

3. सर्जियो रामोस, डिफेंडर

सर्जियो रामोस (13 गेम्स, 3 गोल्स)


अक्सर दुनिया के बेस्ट डिफेंडर बताए जाने वाले सर्जियो रामोस ने हुलेन लोपेतेगी के अंडर अपने प्रदर्शन से काफी निराश किया।


रियल मैड्रिड के कैप्टन का सबसे खराब प्रदर्शन बार्सिलोना के खिलाफ क्लासिको में आया जब कैटलन टीम गोल पर गोल किए जा रही थी और वह कुछ नहीं कर पाए।

2. रफाएल वरान, डिफेंडर

रफाएल वरान (12 मैच, 0 गोल्स)


कागजों पर वरान और रामोस की पार्टनरशिप दुनिया की बेस्ट डिफेंसिव पार्टनरशिप कही जा सकती है लेकिन इस सीजन इन दोनों को ही काफी संघर्ष करना पड़ा है।


लगातार खराब प्रदर्शन के चलते लोपेतेगी ने वरान को पिछले हफ्ते चैंपियंस लीग मैच से बाहर कर दिया था जिसके बाद उन्होंने क्लासिको में वापसी की और वहां उनका प्रदर्शन तो सभी को पता ही है।

1. थिबॉट कोर्टवा, गोलकीपर

थिबॉट कोर्टवा (8 मैच, 21 सेव)


लोपेतेगी के आने के बाद साइन किए गए कोर्टवा को रियल मैड्रिड डेब्यू के लिए काफी इंतजार करना पड़ा। शुरू में लोपेतेगी ने क्लब के नंबर 1 गोलकीपर केलोर नवास पर ही भरोसा किया।


भले ही कोर्टवा ने बार्सिलोना के खिलाफ पांच गोल खाए लेकिन ओवरऑल देखें तो उन्होंने बहुत खराब प्रदर्शन नहीं किया।