स्पैनिश क्लब रियल मैड्रिड ने अपने विंगर गारेथ बेल को लगातार लगती चोटों से आजिज आकर अगले समर उन्हें बेचने का फैसला कर लिया है। स्पैनिश अखबारों के मुताबिक पेरेज़ बेल को बेचकर पेरिस सेंट जर्मेन के फॉरवर्ड किलियन म्बाप्पे को साइन करना चाहते हैं।


साल 2013 में 85 मिलियन पौंड में टॉटेन्हम से रियल मैड्रिड आने के बाद से बेल 19 बार चोटिल हो चुके हैं। बेल को रियल मैड्रिड में क्रिस्टियानो रोनाल्डो का साथ देने के लिए खरीदे गए थे और तीन चैंपियंस लीग और एक ला लीगा जीतने के बावजूद वह अभी तक बर्नबेयु में पूरी तरह सेट नहीं हो पाए हैं।

AS का दावा है कि बेल को लगातार लगती चोटों, मीडिया से उनके गायब रहने और स्क्वॉड पर कोई इम्पैक्ट ना रखने के चलते क्लब ने उनके बर्नबेयु करियर पर विराम लगाने का फैसला कर लिया है। ऐसा कहा जा रहा है कि रियल ने होजे मोरीनियो के इंट्रेस्ट को देखने के बाद भी बेल को इस सीजन खुद को प्रूव करने का फाइनल चांस देने का फैसला किया था।


लेकिन 28 साल के बेल को 19 सितंबर के बाद एक भी मैच ना खेलने और 23 दिसंबर को होने वाली सीजन की पहली क्लासिको के लिए फिट होने की काफी कम संभावना को देखते हुए रियल मैड्रिड ने अपना मूड बदल लिया है। वह बेल की लगातार घटती वैल्यू से भी परेशान हो चुके हैं।


AS का कहना है कि अगर बीती समर ट्रांसफर विंडो में यूनाइटेड बेल को खरीदना तो वे 107-134 मिलियन पौंड की कीमत चुकाते लेकिन अब बेल की कीमत घटकर 62-71 मिलियन पौंड ही रह गई है। हालांकि रियल मैड्रिड के लिए बेल को बेचकर म्बाप्पे को खरीदना इतना आसान नहीं होगा।


बीती ट्रांसफर विंडो में रियल मैड्रिड की तमाम कोशिशों के बावजूद पेरिस सेंट जर्मेन ने म्बाप्पे को लोन पर अपनी टीम में शामिल कर लिया था।